ईमेल दर्ज़ करें: अप्रतिम कविताएँ पाने
रणजीत मुरारका
रणजीत मुरारका की काव्यालय पर रचनाएँ
उद्गार
कल
फसाना
रिश्ते तूफां से
सुकूने-दिल

कोलकाता निवासी रणजीत कुमार मुरारका राजनीति विज्ञान और कानून के छात्र रहे| वे कोलकाता उच्च न्यायालय में वकील हैं। कविता, पुराने हिन्दी गाने, इतिहास, पुराणों और आध्यात्म में रुचि रखते हैं। उनका बचपन रांची में बीता जो उस वक्त बिहार में था और हरा भरा था।


a  MANASKRITI  website