Receive exquisite poems.
Har Ghar Ek Prithvee
yah gRh pravesh kaa muhoort hai

pravesh karate
main achaanak ThiThakaa
dekhaa, ghar men cheenTiyon ko kataarabaddh
chiD़iyaa thee roshanadaan men
gilaharee munDer se ghooratee

aur bhee kaee dekhe-adekhe nivaasee the
jo pataa naheen kaise
gRh pravesh ke pahale hee
rahane chale aae the

unake bartaav se lagaa
ki ve peeDh़iyon se yahaa(n) base hon

gRhasvaamee ke naate
aahat thaa meraa ahan

meraa adhikaar sandeh se bhar gayaa
meraa ghar pRthvee kaa hissaa hai
yaa pRthvee mere ghar kaa hissaa?
to kyaa main kisee aur ke ghar men
pravesh kar rahaa hoo(n)

“mitron, kyaa main tumhaare ghar men rah sakataa hoo(n)?”
poochhane par
deevaaren peechhe haT gaee theen
ghar kaa aayatan prem jitanaa aseem thaa
aur mainne apane ghar men naheen
pRthvee men pravesh kiyaa.

- Hemant Devlekar

काव्यालय को प्राप्त: 9 Aug 2023. काव्यालय पर प्रकाशित: 5 Jan 2024

***
Donate
A peaceful house of the beauty and solace of Hindi poetry, free from the noise of advertisements... to keep Kaavyaalaya like this, please donate.

₹ 500
₹ 250
Another Amount
होलोकॉस्ट में एक कविता
~ प्रियदर्शन

लेकिन इस कंकाल सी लड़की के भीतर एक कविता बची हुई थी-- मनुष्य के विवेक पर आस्था रखने वाली एक कविता। वह देख रही थी कि अमेरिकी सैनिक वहाँ पहुँच रहे हैं। इनमें सबसे आगे कर्ट क्लाइन था। उसने उससे पूछा कि वह जर्मन या अंग्रेजी कुछ बोल सकती है? गर्डा बताती है कि वह 'ज्यू' है। कर्ट क्लाइन बताता है कि वह भी 'ज्यू' है। लेकिन उसे सबसे ज़्यादा यह बात हैरानी में डालती है कि इसके बाद गर्डा जर्मन कवि गेटे (Goethe) की कविता 'डिवाइन' की एक पंक्ति बोलती है...

पूरा काव्य लेख पढ़ने यहाँ क्लिक करें
राष्ट्र वसन्त
रामदयाल पाण्डेय

पिकी पुकारती रही, पुकारते धरा-गगन;
मगर कहीं रुके नहीं वसन्त के चपल चरण।

असंख्य काँपते नयन लिये विपिन हुआ विकल;
असंख्य बाहु हैं विकल, कि प्राण हैं रहे मचल;
असंख्य कंठ खोलकर 'कुहू कुहू' पुकारती;
वियोगिनी वसन्त की...

पूरी कविता देखने और सुनने इस लिंक पर क्लिक करें
random post | poem sections: shilaadhaar yugavaaNee nav-kusum kaavya-setu | pratidhwani | kaavya-lekh
contact us | about us
Donate

a  MANASKRITI  website