इस महीने
'एक गीत क्या मेरा होगा'
- शार्दूला नोगजा


घर से दफ़्तर पाँव बढ़ाते
मीटिंग से मीटिंग में जाते
एक हँसी मुख पे चिपकाए
प्लास्टिक वाली हैलो, हाय
ए.सी. में उष्मा ढूँढे मन
खुद को जहाँ-तहाँ ढूँढे मन
कहो सखे अन्वेषण क्षण में
एक सुधि क्या मेरी होगी
एक बिम्ब क्या मेरा होगा
...
पूरी रचना यहाँ ...
इस महीने की दूसरी रचना
शुक्रवार 16 दिसम्बर को -

सूचना पाने के लिए
सदस्य बनें
नई प्रकाशित कवितायें
धर्मवीर भारती
गोपाल गुंजन
महादेवी वर्मा
प्रतिध्वनि में नया ऑडियो
गोपाल गुंजन
महादेवी वर्मा
विनोद तिवारी
मंजरी गुप्ता पुरवार
सारी रचनाएँ काव्यालय के इन विभागों में संयोजित हैं:
20वी सदी के पूर्व हिन्दी का शिलाधार काव्य
20वी सदी के प्रारम्भ से समकालीन काव्य
उभरते कवियों की रचनाएँ
अन्य भाषाओं के काव्य से जोड़ती हुई रचनाएँ
मोती समान पंक्तियों का चयन
कविताओं का ऑडियो: कवि की अपनी आवाज़ में, या अन्य कलाकार द्वारा:
काव्य सम्बन्धित लेख:
प्रकाशन का समयक्रम:
सामान्यतः महीने का प्रथम और तीसरा शुक्रवार