ईमेल दर्ज़ करें: अप्रतिम कविताएँ पाने
शिव मंगल सिंह 'सुमन'
शिव मंगल सिंह 'सुमन' की काव्यालय पर रचनाएँ
आभार
विवशता

5 अगस्त 1915 को झगरपुर ग्राम (ज़िला उन्नाव, उत्तर प्रदेश) में जन्मे शिव मंगल सिंह की ख्याति हिन्दी साहित्य जगत में अविस्मरणीय है। उनकी कविताएँ आज भी लोगों के दिलों को छूती हैं। कई महत्वपूर्ण पदों पर कार्यरत रहे सुमन जी को पद्मश्री और पद्मभूषण से सम्मानित किया गया। इसके अलावा साहित्य अकादमी पुरस्कार और कई अन्य पुरस्कार भी उन्हें दिए गए। 27 नवंबर 2002 को उनका देहांत हो गया लेकिन अपनी कृतियों के द्वारा वे आज भी हमारे बीच हैं।

जानकारी साभार Wikipedia


a  MANASKRITI  website