ईमेल दर्ज़ करें: अप्रतिम कविताएँ पाने
अनीता वर्मा
अनीता वर्मा की काव्यालय पर रचनाएँ
भीतर बहुत दूर

पहल, साक्षात्कार, समकालीन भारतीय साहित्य, सर्वनाम, वागर्थ, नया ज्ञानोदय, जनसत्ता, हंस, आवेग दस्तक, आवर्त, इंडिया टुडे वार्षिकी आदि प्रमुख पत्र-पत्रिकाओं में कविताओं का प्रकाशन। ’समकालीन सृजन‘ के ‘कविता इस समय’, ‘विपाशा’ और ‘रचना समय ‘ के विशेषांकों में कविताएँ प्रकाशित।आकाशवाणी और दूरदर्शन से कविताओं का प्रसारण। ’कविता का घर’ कार्यक्रम के अंतर्गत चयनित कविता का दृश्य रूपांतर।

वर्ष-2003 में राजकमल प्रकाशन से पहला कविता संग्रह ‘ एक जन्म में सब’ प्रकाशित और चर्चित।विभिन्न भाषाओं के अतिरिक्त अंग्रेज़ी, डच और जर्मन में कविताओं के अनुवाद । ’दस बरस:अयोध्या के बाद’ में कविताएँ संकलित। डच भाषा में अनूदित हिंदी कविता के संकलन ‘Ik Zag de Stad’ (मैंने शहर को देखा) और जर्मन में प्रकाशित ‘Felsinschriften(शिलालेख) में कविताएँ संकलित। चीन की कुछ आधुनिक महिला कवियों के हिंदी अनुवाद।

2008 में राजकमल प्रकाशन से दूसरा कविता संग्रह ‘रोशनी के रास्ते पर' प्रकाशित और प्रशंसित । 'एक जन्म में सब’ के लिए 2006 बनारसी प्रसाद भोजपुरी सम्मान। इसके अतिरिक्त शीला सिद्धांतकर सम्मान, शैलप्रिया सम्मान एवं ‘रोशनी के रास्ते पर ‘ के लिए केदार सम्मान से सम्मानित। चित्रकला, संगीत और दर्शन में विशेष रुचि ।


a  MANASKRITI  website